Advertisement
7489697916 for Ad Booking Advertisement
7489697916 for Ad Booking
पूर्वांचल बलिया राजनीति

अखाड़े में टहल रहे आनंद, हाथ मिलाने वाले पहलवान का पता नहीं

-अध्यक्ष जिला पंचायत का चुनाव
-सदस्य जिला पंचायत चुनाव में ही परास्त हो चुके हैं भाजपा व सपा के अध्यक्ष पद उम्मीदवार
-सुहेलदेव भासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर का समर्थन भाजपा को रोकने को

बलिया: पूर्वांचल के साथ बलिया जिला भी कुश्ती से प्रेम रखने वाला जिला शुरु से ही है। अध्यक्ष जिला पंचायत के चुनाव में भी स्थिति दंगल (कुश्ती प्रतियोगिता) की तरह हो गई है। अध्यक्ष पद का चुनाव दंगल के एक अखाड़े की तरह हो गया है। अखाड़े में एक पहलवान की तरह बसपा उम्मीदवार आनंद चौधरी तो टहल रहे हैं पर उनसें हाथ मिलाने वाला कोई पहलवान दिख नहीं रहा।


दंगलों में तो यही होता है जिस पहलवान की चुनौती लेने वाला कोई नहीं उसे विजेता मान लिया जाता है पर यह चुनावी दंगल है। क्या होगा अभी कुछ भी कहना जल्दी होगी।

आनंद चौधरी वरिष्ठ बसपा नेता और प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी के पुत्र हैं और बार्ड संख्या45 से सदस्य निर्वाचित हुए हैं। सपा नेता पूर्व मंत्री रामगोविंद चौधरी के पुत्र और भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष देवेंद्र यादव के चुनाव हार जाने के कारण दोनों दल अभी पहलवान तय नहीं कर पाए हैं। दलों में पहलवान चुनने की प्रक्रिया चल रही है वहीं आनंद चौधरी घोषित पहलवान की तरह अखाड़े का चक्कर लगा रहे हैं।

हालांकि यह चुनावी दंगल है और यहां परिणाम घोषणा के बाद ही कुछ कहना उचित होता है। इस चुनावी दंगल में सुभासपा के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर की भूमिका भी खास है। उन्होंने तो भाजपा रोको मिशन की तरह इस समर में सपा, बसपा और कांग्रेस के साथ जा सकते हैं।

Advertisement

7489697916 for Ad Booking