Advertisement
7489697916 for Ad Booking Advertisement
7489697916 for Ad Booking
बलिया

कोरोना के कारण पौधा लगाने में दिखी ज्यादा सक्रियता

-विश्व पर्यावरण दिवस
-नेशनल सिक्योरिटी एंटीकरप्शन टीम और तिरुपति संस्था ने सीताकुंड में लगाया पौधा
-शब्दों के माध्यम से अपनी बात रखने वाले साहित्यकारों ने भी किया पौधरोपण
-ध्रुव सिंह स्मृति सेवा संस्थान के सदस्यों ने लगाया पौधा ताकि आक्सीजन के बगैर मरे नक कोई

बलिया। विश्व पर्यावरण दिवस पर इस बार कोविड के कारण लोग ज्यादा सक्रिय दिखे। आक्सीजन की कमी ने लोगों को ज्यादा जिम्मेदार बनाया। जिले में हर जगह लोग पौधा लगाए।विश्व पर्यावरण दिवस पर तिरूपति संस्था एवम नेशनल सिक्योरिटी एंड एंटी करप्शन क्राइम प्रीवेंटिंग ब्रिगेड के तत्वावधान में ब्लाक बेलहरी के ग्राम पंचायत सीताकुंड गांव में पर्यावरण दिवस मनाया गया इस मौके पर संस्था की महासचिव संगीता तिवारी ने कहा कि पर्यावरण को संतुलित करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को पांच वृक्ष अवश्य लगाना चाहिए अभी कुछ ही दिनों पहले कोराना महामारी में जिस तरह से आक्सीजन की कमी के कारण अफरा तफरी मची थी लोग आक्सीजन के लिए परेशान थे कितनों को जान गंवानी पड़ी।अगर इंसान प्राकृति को असंतुलित करेगा तो प्रकृति कभी हमें माफ नहीं करेगा और अपने हिसाब से जनसंख्या को संतुलित कर लेगा । पर्यावरणीय संसाधनों के दोहन से दिनप्रतिदिन तापमान और प्रदूषण बढ़ रहा है, इससे पृथ्वी पर रह रहे सभी जीवों के लिए ख़तरा बना हुआ है।
इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष पी एन तिवारी, युवा नेता अखिलेश तिवारी, चिंटू पांडेय, डाक्टर प्रियंका पांडेय, नेहा तिवारी, अंजलि तिवारी,पूजा पांडेय, मंजु गुप्ता,जय शर्मा अभियंता राजेश तिवारी आदि पदाधिकारी उपस्थित रहे।

विश्व पर्यावरण दिवस के शुभअवसर पर ध्रुव जी सिंह स्मृति सेवा संस्थान की तरफ से अपने मित्रों के साथ पौधों को लगा कर पर्यावरण दिवस मनाया।
इस वैश्विक महामारी कोविड19 के आपदाकाल में ऑक्सीजन का हमारे जीवन मे क्या महत्व है, ये बखूबी हमसभी समझ चुके है। ऑक्सीजन सिलेंडर के लिये काफी परेशान थे हमसभी,किसी भी मूल्य पर इसे प्राप्त करना चाहते थे,तबभी आसानी से उपलब्ध नही हो पा रहा था। लेकिन प्रकृति हमें प्रतिदिन निःशुल्क ऑक्सीजन उपलब्ध कराती है।इसकी कोई कद्र नही करते हमसभी। कोविड संक्रमितों के फेफड़ों के थोड़े से ही संक्रमित होने से भयावह स्थिति हो गयी थी, इसलिए पृथ्वी के फेफड़ों को नष्ट ना करें। आईये, विश्व पर्यावरण दिवस पर पर्यावरण के संरक्षण, संवर्धन और विकास का हमसभी संकल्प ले।

साहित्यकारों ने लगाया पौधा
विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जनपद के साहित्यकारों ने आनंद नगर स्थित स्थानों पर औषधीय, फलदार व छायादार पौधा रोपण किया जिसमें औषधीय पौधा पषाण, छायादार छितवन, नीम व फलदार अमरूद आम आदि पौधे शामिल थे। साथ ही अखिल भारतीय विकास परिषद व साहित्य चेतना समाज के तत्वाधान में संक्षिप्त काव्य गोष्ठी भी हुई। गोष्ठी में डॉ नवचंद्र तिवारी, डॉ कादंबिनी सिंह, डॉ फतेहचंद बेचैन,मीनाक्षी सिंह, जैनेंद्र तिवारी ने पर्यावरण से संबंधित अपनी-अपनी रचनाएं पढ़ी। इस अवसर पर किरण गुप्ता, शिवकुमारी, उर्मिला, विनय गुप्ता, विवेक, पंकज कुमार आदि थे।

Advertisement

7489697916 for Ad Booking