Advertisement
7489697916 for Ad Booking Advertisement
7489697916 for Ad Booking
बलिया

महिला शिक्षक ने पहली सैलरी से स्कूली बच्चों को दिया ट्रैक शूट

-सराहनीय कार्य
-गाजियाबाद की रहने वाली अंजली तोमर प्राथमिक विद्यालय अलावलपुर में हैं तैनात


बलिया : सरकारी स्कूलों में नव नियुक्त शिक्षकों का जज्बा सराहनीय है। ऐसी ही एक नव नियुक्त शिक्षिका अंजली तोमर ने बुधवार को एक अनोखा सराहनीय कार्य किया।

शिक्षिका अंजली तोमर को सम्मानित करते एडी बेसिक

हनुमानगंज शिक्षा क्षेत्र अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय अलावलपुर में तैनात अंजली तोमर ने अपने पहले वेतन से विद्यालय के सभी बच्चों को ट्रैक शूट खरीद कर दिया। जिसे एडी बेसिक आजमगढ़ अमरनाथ राय ने समारोहपूर्वक वितरित किया। गाजियाबाद की रहने वाली अंजली तोमर 69 हजार बैच की शिक्षक हैं। जिले में उनकी तैनाती हनुमानगंज शिक्षा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय अलावलपुर में हुई है। अंजली तोमर जब से विद्यालय पर नियुक्ति हुईं, तभी से उनके मन में था कि बच्चों के लिए कुछ करें। कोरोना काल में लंबे समय से विद्यालय बंद था। पिछले महीनों विद्यालय खुला तो उन्हें निर्णय लिया कि विद्यालय के सभी बच्चों के लिए ट्रैक शूट खरीद कर लायीं। बुधवार को प्राथमिक विद्यालय अलावलपुर में आयोजित समारोह में मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक आजमगढ़ अमरनाथ राय के हाथों सभी नामांकित बच्चों को ट्रैक शूट वितरित हुआ। बच्चों को ट्रैक शूट देने के बाद एडी बेसिक अमरनाथ राय ने कहा कि मैं अंजली तोमर को धन्यवाद नहीं बल्कि आभार व्यक्त करूंगा। मैं शिक्षकों से हमेशा कहता हूं कि मेरे बच्चों के समर्पण दिखाइये। जो भी शिक्षक बच्चों के समर्पित रहता है, वह आभार का पात्र है। कहा कि बच्चों को शिक्षा देना एक शिक्षक का नैतिक के साथ साथ राष्ट्रीय दायित्व भी है। एक अधिकारी के तौर पर हम किसी को दोष नहीं देंगे। क्योंकि यह हमारी कमी मानी जाएगी। रामायण का जिक्र करते हुए कहा कि कोई भी कार्य आसान नहीं होता, जब तक कि हम उससे मन मस्तिष्क से जुड़ते नहीं हैं। डिटरमिनेशन, डिवोशन और डेडीकेशन ही किसी भी कार्य के सफलता का मूल मंत्र है। शिक्षकों को इसी अनुरूप शिक्षण कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें अपनी सामर्थ्य के अनुसार लेकिन अपनी सीमाओं के बीच ही कार्य करना चाहिए। चौदह वर्ष तक के बच्चों को निशुल्क शिक्षा का उद्देश्य है प्राथमिक शिक्षा का सार्वभौमिकरण। मिशन प्रेरणा के तहत हर बच्चे को शिक्षित करना शिक्षकों का दायित्व है। बच्चों को परिवेशीय शिक्षा देनी चाहिए। स्थानीय बोली का प्रयोग भी होना चाहिए। जिस दिन आप अपनी बोली, भाषा और संस्कृति को अंग बना लेंगे, उस दिन दुनिया में सबसे आगे होंगे। जो पथिक बना वही राम और कृष्ण बना। शिक्षक जब-जब समाज का नेतृत्व किया है, सकारात्मक परिवर्तन आया। जब-जब नेतृत्व से विलग हुआ है, समाज में विभेद पैदा होता है। आह्वान किया कि मंडल के किसी भी शिक्षक को आवश्यकता हो तो मैं उसके साथ खड़ा रहूंगा। एडी बेसिक ने शिक्षिका अंजली तोमर को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। आजमगढ़ डायट के प्रवक्ता विनय शंकर आनंद ने कहा कि शिक्षक एक प्रयास से भी समाज में बड़े बदलाव हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि अंजली तोमर का एक प्रयास इन बच्चों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाएगा। हनुमानगंज के खंड शिक्षाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार ने एडी बेसिक अमरनाथ राय का स्वागत करते हुए कहा कि शिक्षक अंधकार दूर कर समाज में प्रकाश लाता है। शिक्षिका अंजली तोमर ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं। अध्यापक बच्चों को अपना शत-प्रतिशत देने के लिए प्रयास करें तो भारत विश्व गुरू बन सकता है। इसके पहले विद्यालय की छात्राओं ने गीतों के माध्यम से मुख्य अतिथि का स्वागत किया। इस मौके पर दिलीप सिंह, धीरेंद्र राय, परमात्मा यादव, मनोज शर्मा, रवि यादव, श्यामनारायण तिवारी, अजय उपाध्याय, रामाश्रय यादव, विनय राय, मनोज श्रीवास्तव, कुमकुम सिंह, प्रिया त्रिपाठी, रीना चौहान, अवधेश कुमार आदि थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता हनुमानगंज प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष अजय सिंह व संचालन विद्यालय के प्रधानाध्यापक प्रदीप यादव ने किया।

Advertisement

7489697916 for Ad Booking